What Is The Upsc In Hindi?

यूपीएससी में क्या क्या आते हैं?

IPOS- भारतीय डाक सेवा IRAS- भारतीय रेलवे लेखा सेवा IRPS- भारतीय रेलेवे कार्मिक सेवा IRTS- भारतीय रेल यातायात सेवा IRS- भारतीय राजस्व सेवा ITS- भारतीय व्यापार सेवा RPF- रेलवे सुरक्षा बल

UPSC का क्या अर्थ है?

UPSC Full Form: UPSC का Full Form Union Public Service Commission हैं, यह भारत की एक केंद्रीय एजेंसी है जो काफी सारी परीक्षाओं को आयोजित करवाती है। हर साल UPSC की परीक्षा में काफी सारे उम्मीदवार शामिल होते हैं। UPSC की सिविल परीक्षा में सफल होकर ही उम्मीदवार IAS और IPS जैसे बड़े पदों पर जाते हैं।

UPSC कैसे तैयार करें?

सबसे पहले एग्जाम की पूरी जानकारी होना जरूरी है। एग्जाम में आने वाले सिलेबस को समझें। रणनीति और अध्ययन की सामग्री को इकट्ठा करें । एकाग्रता के साथ पढ़ाई करें । पढ़ाई के साथ ही साथ लेखन करना भी जरूरी है। बार-बार मोक टेस्ट दीजिए। रोज़ाना न्यूज़ पेपर और मैगज़ीन पढ़ें।

यूपीएससी परीक्षा का उद्देश्य क्या है?

UPSC भारत की केंद्रीय एजेंसी है जो IAS, IPS, IFS आदि जैसी शीर्ष सरकारी सेवाओं में उम्मीदवारों की भर्ती के लिए सिविल सेवा परीक्षा (CSE) जैसी परीक्षा आयोजित करती है। UPSC सिविल सेवाओं के साथ-साथ रक्षा सेवाओं दोनों के लिए उम्मीदवारों की भर्ती करता है।

See also  How To Make Plans For Studying Upsc?

UPSC में इंग्लिश जरूरी है क्या?

क्या आईएएस बनने के लिए अंग्रेजी आना है जरूरी? यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) क्‍वालिफाई करने के लिए बहुत अच्छी अंग्रेजी की जरूरत नहीं होती है. इसके लिए अंग्रेजी का इतना ही ज्ञान पर्याप्त होता है कि अंगेजी जानने वाला कोई व्यक्ति यदि किसी आम विषय पर कुछ कहे, तो उसे समझ जाएं.

UPSC पेपर कितने नंबर का होता है?

उत्तर। यूपीएससी प्रीलिम्स में कुल अंक 400 हैं, जिसमें दो पेपर आयोजित किए जाते हैं, प्रत्येक 200 अंकों के लिए। चूंकि दोनों पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार के होते हैं, इसलिए यूपीएससी परीक्षा के अधिकतम प्राप्त करने योग्य कुल अंक प्राप्त करने की संभावना है।

UPSC पास करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?

UPSC पास करने के बाद यहां भी मिलती है नौकरी सिविल सर्विसेज परीक्षा में पास होने के बाद कैंडिडेट आईएएस या आईपीएस ही बनते हैं. लेकिन, ऐसा नहीं है. सिविल सर्विसेज के बाद 24 सर्विस में कैंडिडेट्स की नियुक्ति की जाती है. बता दें कि सर्विसेज में दो कैटेगरी होती है, जिसमें ऑल इंडिया सर्विसेज और सेंट्रल सर्विसेज शामिल है.

यूपीएससी कितने साल का होता है?

सिविल सेवा की तैयारी के लिए कम से कम 2 से 3 वर्ष का समय लगता है। आप अपने ग्रेजुएशन के दिनों से ही इसकी तैयारी शुरू कर दे। इस परीक्षा की तैयारी की शुरूआत NCERT की किताबों का अध्ययन करने से करे। इसके अलावा सिविल सेवा परीक्षा का पूरा सिलेबस अपने साथ रखे और उसके अनुसार ही तैयारी करे।

यूपीएससी के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

इस परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से, किसी भी विषय में स्नातक होना आवश्यक है I परीक्षा में सवाल भी स्नातक स्तर के ही पूछे जाते हैं.

See also  Can We Write The Word Introduction In Upsc Gs Answers?

बिना पढ़े UPSC कैसे निकाले?

यह निष्कर्ष संक्षेप में है कि, आप कोचिंग के बिना भी आईएएस परीक्षा को पास कर सकते हैं लेकिन यह ‘हर कोई’ नहीं कर सकता, क्योंकि यह आपके आत्म-अध्ययन व क्षमता पर निर्भर करता है। यदि आप आत्म-अध्ययन और सेल्फ कॉन्फिडेंस में अच्छे हैं, तो आप बिना किसी कक्षा कोचिंग के भी यूपीएससी की इस परीक्षा में सफलता पा सकते हैं।