How To Write A Good Answer For Upsc In Hindi?

UPSC में एक अच्छा जवाब कैसे लिखें?

हैंडराइटिंग : यानि आपकी लिखावट, जितनी सुन्दर होगी उतने की अतिरिक्त अंक आप अर्जित करेंगे। उत्तरों के लिये लिखे गये पैराग्राफ के बीच उचित जगह (पैराग्राफ ब्रेक) रखें, जिससे पैराग्राफ का अंतर साफ-साफ समझ में आए। उत्तर पुस्तिका को साफ-सुथरा रखें तथा ओवर राईटिग व अनावश्यक काटा-पीटी से बचें।

यूपीएससी में निबंध कैसे लिखा जाता है?

निबंध का पेपर UPSC सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के नौ पेपरों में से एक है । इस पेपर में, आपको दो निबंध लिखने होंगे, जिनमें से प्रत्येक की शब्द सीमा 1000 – 1200 होगी। प्रत्येक निबंध के लिए पेपर के 2 खण्डों – A तथा B से एक-एक विषय का चयन किया जा सकता है।

UPSC के लिए सबसे पहले क्या करना चाहिए?

सबसे पहले एग्जाम की पूरी जानकारी होना जरूरी है। एग्जाम में आने वाले सिलेबस को समझें। रणनीति और अध्ययन की सामग्री को इकट्ठा करें। एकाग्रता के साथ पढ़ाई करें। पढ़ाई के साथ ही साथ लेखन करना भी जरूरी है। बार-बार मोक टेस्ट दीजिए। रोज़ाना न्यूज़ पेपर और मैगज़ीन पढ़ें।

UPSC में सबसे महत्वपूर्ण क्या है?

ऐसे में करेंट अफेयर्स के अलावा, 2 प्रमुख विषय हैं जिनका अध्ययन प्रत्येक UPSC उम्मीदवार को बिना किसी अध्याय को छोड़े करना है। आपको बता दें, ये दो विषय हैं- “इतिहास और राजनीति” बिना इन विषयों को पढ़ने यूपीएससी की तैयारी नहीं की जा सकती।

See also  How To Prepare The Entrance Of Upsc Without Coaching?

बिना पढ़े UPSC कैसे निकाले?

यह निष्कर्ष संक्षेप में है कि, आप कोचिंग के बिना भी आईएएस परीक्षा को पास कर सकते हैं लेकिन यह ‘हर कोई’ नहीं कर सकता, क्योंकि यह आपके आत्म-अध्ययन व क्षमता पर निर्भर करता है। यदि आप आत्म-अध्ययन और सेल्फ कॉन्फिडेंस में अच्छे हैं, तो आप बिना किसी कक्षा कोचिंग के भी यूपीएससी की इस परीक्षा में सफलता पा सकते हैं।

एक सही उत्तर कैसे लिखें?

एक अच्छे उत्तर की मुख्यत: दो विशेषताएँ होती हैं- प्रामाणिकता तथा प्रवाह। प्रामाणिकता का अर्थ है कि उत्तर में ऐसे ठोस तथ्य और तर्क विद्यमान होने चाहियें जिनसे प्रश्न की वास्तविक मांग पूरी होती हो अर्थात् परीक्षक को उत्तर पढ़कर यह महसूस होना चाहिये कि अभ्यर्थी ने विषय का गंभीर अध्ययन किया है।

UPSC मेंस में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

IAS मुख्य परीक्षा में नौ थ्योरी पेपर होते हैं और अंतिम मेरिट सूची तैयार करने के लिए इनमें से सात पेपरों के अंकों को ध्यान में रखा जाता है। अन्य दो पेपर, अंग्रेजी और भारतीय भाषा, योग्यता प्रकृति के हैं (उम्मीदवारों को चयन के लिए पात्र होने के लिए 25% या उससे अधिक अंक प्राप्त करने होंगे)।

यूपीएससी में एक निबंध कितने पेज का होता है?

सामान्य प्रारूप। परिचय, मुख्य भाग, निष्कर्ष – मूल प्रारूप के रूप में। प्रति निबंध 10 पृष्ठ – प्रति पृष्ठ 110-120 शब्द। 1-2 पेज परिचय और बॉडी लिंकेज, 5-6 विचारों के साथ बॉडी के 7-8 पेज, 1/2 – 1 पेज प्री-निष्कर्ष और 1 पेज निष्कर्ष।

UPSC में इंग्लिश जरूरी है क्या?

यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) क्‍वालिफाई करने के लिए बहुत अच्छी अंग्रेजी की जरूरत नहीं होती है. इसके लिए अंग्रेजी का इतना ही ज्ञान पर्याप्त होता है कि अंगेजी जानने वाला कोई व्यक्ति यदि किसी आम विषय पर कुछ कहे, तो उसे समझ जाएं.

See also  How To Crack Upsc In First Attempt Deivey Sethi?

IAS कितने साल का कोर्स है?

सिविल सेवा की तैयारी के लिए कम से कम 2 से 3 वर्ष का समय लगता है। आप अपने ग्रेजुएशन के दिनों से ही इसकी तैयारी शुरू कर दे। इस परीक्षा की तैयारी की शुरूआत NCERT की किताबों का अध्ययन करने से करे। इसके अलावा सिविल सेवा परीक्षा का पूरा सिलेबस अपने साथ रखे और उसके अनुसार ही तैयारी करे।